गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021

ऊर्जा मंत्री के निर्देश के बाद झल्लाये बिजली कंपनी के कर्मचारी,मुरैना की बिजली सप्लाई ठप्प की

 ग्वालियर टाइम्स , उल्लेखनीय है कि म प्र के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बैठक में कहा था कि उपभोक्ताओं को आकलित खपत के बिल नहीं दें और बड़े बकायादारों से सख्ती से बिल वसूलें , इसके बाद मुरैना बिजली कंपनी के कर्मी इस खबर के प्रकाशित होते ही बुरी तरह से बौखला गये और अचानक दो नंबर की मोटी कमाई हाथ से निकलते देख आज 9 बजकर 53 मिनिट पर ही मुरैना जिले की बिजली शट डाउन कर दी । 

इस खबर के प्रकाशित किये जाने के वक्त तक मुरैना की बिजली गोल है, हालात ये हैं कि इंजीनियर्स तक ऊर्जा मंत्री के इस निर्देश के बाद बुरी तरह से बिलबिलाये और बौखलाये हुये हैं , जो न तो कभी किसी को इतिहास में मीटर से बिल कभी देते ही नहीं थे, खराब मीटर कभी बदलते ही नहीं थे, आकलित खपत के नाम पर भ्रष्टाचार और अंधेरगर्दी कर लूट मचा रहे और उपभोक्ताओं से बिजली चुरा कर रिश्वत देने वालों को लाखों रू की हजारों का बिल देकर बिजली दे रहे , बिजली मगरमच्छों पर तो एकदम वज्रपात सा हुआ है । 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

बिजली कंपनी में दाखिल किया सूचना का अधिकार का आवेदन , झल्लाये और बौखलाये बिजली कंपनी के लोग , चार दिन से मुरैना में दिन रात लगातार मैराथन जली कटौती

  कल दिया गया सूचना का अधिकार का आवेदन  आवेदन अंतर्गत धारा  6  ,  सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 Through E Mail And By Speed Post Signaured Co...